लघु अवधि, मध्यम अवधि और दीर्घकालिक वित्तीय लक्ष्य

0
1577
short medium long term financial goals

लघु अवधि, मध्यम अवधि और दीर्घकालिक वित्तीय लक्ष्य

हमारे वित्तीय निर्णयों और लक्ष्यों में समय की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। कुछ वित्तीय लक्ष्य ऐसे होते हैं, जिन्हें बहुत ही कम समय में प्राप्त करना होता है, जबकि कुछ के लिए हमारे पास समय होता है। हमें अपने वित्तीय लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए रणनीति बनाना होता है कि कैसे हम तय समय में सर्वोत्तम रिटर्न प्राप्त कर सकते हैं। इसके साथ ही लोग लक्ष्यों को लेकर भी दुविधा में रहते हैं, इसलिए इस लेख के माध्यम से हम आपको कुछ तरीके बता रहे हैं, जिनके माध्यम से आप अपने लक्ष्यों में अंतर कर सकते हैं और उन्हें प्राप्त करने के लिए पैसे बचा सकते हैं।

अल्पकालिक वित्तीय लक्ष्य

अल्पकालिक लक्ष्य वे वित्तीय लक्ष्य होते हैं, जिन्हें अपेक्षाकृत तेजी से प्राप्त किया जा सकता है। ऐसे लक्ष्यों में व्यक्ति को कुछ महीनों या वर्षों के भीतर अपने विभिन्न कार्यों को पूरा करने के लिए तत्काल पैसों की आवश्यकता होती है। आप निम्न की मदद से इन लक्ष्यों को प्राप्त कर सकते हैं।

संचित बचत

अल्पकालिक लक्ष्यों को पूरा करने के सबसे अच्छे तरीकों में से एक आरडी खाते में पैसा जमा करना या आपके बचत खाते में एकमुश्त राशि रखकर ब्याज प्राप्त करना है। आप अपने लक्ष्यों को अपेक्षाकृत तेज़ी से प्राप्त करने के लिए अपने वेतन खाते को ऑटो डेबिट कर सकते हैं और आरडी खाते में हर महीने एक विशिष्ट राशि जमा कर सकते हैं।

अल्पकालिक डेट फंड में निवेश करें

लिक्विडिटी को बनाए रखते हुए बेहतर दर पर ब्याज पाने के लिए आप लिक्विड फंड या अल्पकालिक डेट फंड में निवेश कर सकते हैं। यदि कोई निश्चित अवधि नहीं है और आने वाले 2-3 महीनों में आप अपने लक्ष्य को पूरा करना चाहते हैं, तो लिक्विड फंड आपके लिए सही विकल्प हैं।

अपने खर्चों को सीमित करें

अपने अल्पकालिक लक्ष्यों के लिए पैसे बचाने के लिए आपको अपने खर्चों पर अंकुश लगाने और अनावश्यक खर्च करने की आदत को बदलना चाहिए तथा खर्चों पर लगातार नजर बनाए रखनी चाहिए। खर्चों को सीमित करने से आपको अपने लक्ष्यों को प्राथमिकता देने और कुछ अतिरिक्त राशि बचाने में मदद मिलेगी, जिसका उपयोग आपातकालीन निधि बनाने के लिए किया जा सकता है।

मध्यम अवधि के वित्तीय लक्ष्य

मध्यम अवधि के लक्ष्य वे लक्ष्य होते हैं, जिनकी अवधि अल्पकालिक लक्ष्यों और दीर्घकालिक लक्ष्यों के बीच की होती है। मध्यम अवधि के लक्ष्यों को पूरा करने के लिए आपको 5 साल या उससे अधिक समय तक बचत करनी होती है। मध्यम अवधि के अधिकांश लक्ष्यों में घर खरीदने के लिए डाउन पेमेंट, बच्चों की शिक्षा के लिए बचत या व्यवसाय शुरू करने के लिए पैसों की बचत शामिल होती है। आप निम्न की मदद से इन लक्ष्यों को प्राप्त कर सकते हैं।

बच्चों की शिक्षा

यदि आप अपने बच्चे की शिक्षा के लिए बचत करना चाहते हैं, तो सही निवेश विकल्प का चयन करें। यदि बच्चों की शिक्षा के लिए कुछ समय के भीतर पैसों की जरूरत पड़ेगी, तो ईएलएसएस जैसे इक्विटी उत्पाद या कंपनियों के स्टॉक खरीदकर आप पूंजी बना सकते हैं। यदि आप जोखिम नहीं लेना चाहते और ठीक-ठाक रिटर्न चाहते हैं, तो डेट फंड आपके लिए बेहतर विकल्प हो सकते हैं।

व्यवसाय शुरू करने के लिए

बहुत से लोग अपना स्वयं का व्यवसाय शुरू करने या अतिरिक्त आय के लिए कुछ निवेश करने की इच्छा रखते हैं। इसके लिए एफडी या बचत खाते में पैसा रखने से आपको कुछ खास मदद नहीं मिलेगी। यदि आप अधिक रिटर्न चाहते हैं, तो थोड़ा जोखिम लेकर अच्छा रिटर्न प्राप्त कर सकते हैं। उदाहरण के लिए आप लार्ज कैप फंड या इक्विटी ओरिएंटेड हाइब्रिड फंड में निवेश करके मध्यम अवधि में भी अच्छा रिटर्न प्राप्त कर सकते हैं। मध्यम अवधि के डेट म्यूचुअल फंड भी मध्यम अवधि के निवेश के लिए एक अच्छा निवेश विकल्प हो सकते हैं। म्यूचुअल फंड और इक्विटी से संबंधित विकल्पों में निवेश करने से पहले खाते की लागत, अतिरिक्त शुल्क या अन्य शुल्कों के बारे में जानकारी लें।

दीर्घकालिक वित्तीय लक्ष्य

दीर्घकालिक वित्तीय लक्ष्य वे लक्ष्य होते है, जिन्हे प्राप्त करने के लिए लंबे समय तक निवेशित रहना होता है। इन लक्ष्यों को पूरा करने के लिए बहुत पैसों की जरूरत होती है। सबसे महत्वपूर्ण दीर्घकालिक लक्ष्य सेवानिवृत्ति योजना, बच्चों की शिक्षा या शादी, आर्थिक रूप से स्वतंत्र जीवन जीना आदि हैं।

सेवानिवृत्ति योजना

दीर्घकालिक वित्तीय लक्ष्यों में सबसे महत्वपूर्ण सेवानिवृत्ति की योजना है। इसके लिए आपको अपने पूरे सेवा काल के दौरान लगातार बचत करने की आवश्यकता होती है। अधिकांश सरकारी और निजी क्षेत्र के कर्मचारी ईपीएफ के माध्यम से सेवानिवृत्ति के लिए बचत कर सकते हैं। अतिरिक्त राशि के लिए पीपीएफ और एनपीएस सबसे अच्छे विकल्प हैं, जो अच्छी ब्याज आय और टैक्स लाभ देते हैं। इसके अलावा आप सिप के माध्यम से म्यूचुअल फंड, इंडेक्स फंड आदि में निवेश कर सकते हैं।

बच्चों की उच्च शिक्षा और शादी

अपने बच्चों की शिक्षा की जरूरतों को महसूस करना और उन्हें पूरा करने के लिए अच्छा रिटर्न देने वाले निवेश साधनों में निवेश करना बेहतर होता है। अपनी निवेश रणनीति निर्धारित करते समय आपको महंगाई के प्रभाव पर भी विचार करना चाहिए। आप कुछ सरकारी योजनाएं जैसे पीपीएफ या सुकन्या समृद्धि योजना में निवेश करके अच्छा रिटर्न प्राप्त कर सकते हैं। इन विकल्पों में जोखिम नहीं होता और ये दीर्घकालिक निवेश साधन हैं। यदि आप थोड़ा जोखिम लेने को तैयार हैं, तो ईएलएसएस जैसे इक्विटी-लिंक्ड निवेश विकल्पों में निवेश कर सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here