किस तरह से करें व्यक्तिगत ऋण के लिए आवेदन?

0
651
personal loan application

किस तरह से करें व्यक्तिगत ऋण के लिए आवेदन?

जब आपको वित्तीय सहायता की आवश्यकता होती है, तो व्यक्तिगत ऋण इस समय बहुत मददगार साबित होता है। आज के समय में व्यक्तिगत ऋण लेना पहले की तुलना में आसान हो गया है, क्योंकि अब आप बिना किसी परेशानी के ऑनलाइन आवेदन जमा कर सकते हैं। लेकिन एक बात का ध्यान रखें कि ऋण आवेदन में कि गई एक छोटी सी गलती भी अपके ऋण की अस्वीकृति का कारण बन सकती है। इसलिए बहुत सावधानी से ऋण आवेदन भरना चाहिए। इस लेख के माध्यम से हम आपको ऐसी जानकारी देने जा रहे हैं, जिसकी मदद से आप अपने आवेदन को सही तरह से भर सकते हैं और ऋण अस्वीकृति की प्रक्रिया से बच सकते हैं।

आवेदन में अपनी संपत्तियों के विवरण को संलग्न करना सुनिश्चित करें

किसी भी प्रकार के संपार्श्विक का विवरण आपके ऋण आवेदन के समर्थन में उपयोगी साबित हो सकता है। संपार्श्विक का विवरण देने से बेहतर शर्तों पर ऋण मिलने की संभावना बढ़ जाती है। इसलिए ऋण का आवेदन करते समय आपको संपार्श्विक का उल्लेख करना चाहिए। यह आपके ऋण को सुरक्षित करने में मदद कर सकता है। इसके अतिरिक्त आपको यह भी जानकारी देनी चाहिए कि आपके पास एक स्थिर नौकरी है और एक प्रतिष्ठित कंपनी में कार्यरत हैं तथा इसलिए आप ऋण चुकाने में सक्षम हैं। मतलब आपको इस तरह से आवदेन करना चाहिए जिससे आप ऋणदाता को यह विश्वास और गारंटी दे सकें कि आप लिये गये ऋण को समय पर चुकाने के लिए सक्षम हैं और एक जिम्मेदार उधारकर्ता हैं। ऋण के लिए आपको सबसे पहले ऑनलाइन या ऑफलाइन माध्यम से आवेदन करना होगा और बैंक की मंजूरी लेनी होगी। अपने ऋण आवेदन की मंजूरी के लिए आपको बैंक में एक सुनियोजित पुनर्भुगतान योजना प्रस्तुत करनी पड़ सकती है। आपको बैंक में आय प्रमाण पत्र, पते का प्रमाण, पहचान पत्र आदि दस्तावेज जमा करने पड़ सकते हैं।

सभी दस्तावेज तैयार रखें

हर बैंक को उधारकर्ता की पात्रता तय करने के लिए दस्तावेजों के एक सेट की आवश्यकता होती है। बैंक एक उधारकर्ता के रूप में आपकी विश्वसनीयता का पूरी तरह से सत्यापन करते हैं, इसलिए इसमें कोई आश्चर्य की बात नहीं है कि आप एक अच्छे उधारकर्ता हैं, इस बात को साबित करने के लिए आपको अपने वित्तीय रिकॉर्ड जमा करने होंगे। बैंक आपकी आय और आपके पहले के ऋणों को देखकर यह तय करते हैं कि आपको कितनी ऋण राशि स्वीकृत की जाये। यदि आप अपने सभी दस्तावेज तैयार रखते हैं, तो इससे सत्यापन और अनुमोदन प्रक्रिया में तेजी आती है। आपको बैंक में निम्न दस्तावेजों को जमा करना होगा –

  • पहचान प्रमाण – आपको फोटो युक्त आईडी देनी होगी। इसके लिए आप ड्राइविंग लाइसेंस, पैन कार्ड, आधार कार्ड या पासपोर्ट का उपयोग कर सकते हैं।
  • उम्र का प्रमाण – कोई भी दस्तावेज जैसे पैन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, आधार कार्ड या जन्म प्रमाण पत्र जमा कर सकते हैं।
  • पते का प्रमाण – इसके लिएकिरायेनामा, पट्टे का समझौता, पासपोर्ट, मतदाता पहचान पत्र, ड्राइविंग लाइसेंस, आधार कार्ड या पानी, बिजली या गैस बिल जैसे दस्तावेज जमा किए जा सकते हैं।
  • क्रेडिट कार्ड स्टेटमेंट – बैंक इसका उपयोग अपके द्वारा भुगतान की जा रही ईएमआई का मूल्यांकन करने के लिए कर सकते हैं।
  • आय दस्तावेज – ऋण दस्तावेज का यह महत्वपूर्ण हिस्सा होता है। प्रत्येक आवेदक को अपने पिछले तीन महीनों की सैलरी स्लिप और बैंक स्टेटमेंट को जमा करना होता है। इसके साथ ही बैंक आपसे मौजूदा ऋण के बारे में भी पूंछ सकते हैं। इससे वो यह जानना चाहते हैं कि क्या आप अपने मासिक बजट के साथ इन ऋणों की ईएमआई का भुगतान कर सकते हैं या नहीं।

शोध और तुलना करने के बाद बैंक का चयन करें

बिना किसी शोध के व्यक्तिगत ऋण के लिए आवेदन करना उधारकर्ता द्वारा की गई सबसे आम गलतियों में से एक होता है। यदि आप बिना शोध के आवेदन करते हैं और किसी गलत बैंक से ऋण ले लेते हैं, तो आपको अधिक ब्याज दर पर ऋण राशि को चुकाना पड़ सकता है। इसलिए ऋण के लिए बैंक का चयन करने से पहले विभिन्न बैंकों के ऑफर्स और ब्याज दर की तुलना कर लेनी चाहिए। इसके लिए आप ऑनलाइन एग्रीगेटरों की मदद ले सकते हैं। पहले से स्वीकृत ऋणों का चयन करना या व्यक्तिगत ऋण के लिए मिले पहले ऑफर को ही फाइनल कर देना ठीक नहीं होता है। शोध और तुलना करने में समय लें और इसके बाद बैंक और ऑफर का चयन करें। ब्याज दर के साथ, अन्य ऋणदाताओं द्वारा कितनी ईएमआई की पेशकश की जा रही है, इसकी तुलना भी कर लें। यदि आपके मासिक बजट में ईएमआई आसानी से फिट हो, तो ही इस विकल्प का चयन करें। इसके साथ ही प्रोसेसिंग फीस, प्रीपेमेंट विकल्प और प्रीपेमेंट चार्ज आदि की तुलना भी करें और इसके बाद ही अंतिम निर्णय लें।

अच्छी क्रेडिट हिस्ट्री रखें

व्यक्तिगत ऋण की स्वीकृति के लिए क्रेडिट हिस्ट्री सबसे महत्वपूर्ण कारक होती है। ऋणदाता आपकी क्रेडिट हिस्ट्री के माध्यम से यह देखते हैं कि आप अपने पैसों का प्रबंधन कैसे करते हैं और आप कितनी जिम्मेदारी के साथ ऋण का प्रबंधन कर सकते हैं। एक अच्छी क्रेडिट हिस्ट्री का मतलब है कि बैंक समय पर पुनर्भुगतान के लिए आप पर विश्वास कर सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here