10 सालों में करोड़पति कैसे बनें?

0
961
be crorepati in 10 years

10 सालों में करोड़पति कैसे बनें?

शीर्षक पढ़ने के बाद आपके दिमाग में सबसे पहला सवाल आया होगा कि क्या यह संभव है? इसका उत्तर है हां क्यों नहीं। उचित योजना बनाकर और लगातार निवेश करके आप केवल 10 वर्षों में करोड़पति बन सकते हैं। हालांकि इसके लिए समय और ऊर्जा की जरूरत होगी। अगर आप ऐसा चाहते हैं, तो आपको अपने वित्त को लेकर सावधानीपूर्वक योजना बनाने की आवश्यकता है। इसलिए इस लेख के माध्यम से ऐसी जानकारी दी जा रही है, जो आपको 10 वर्षों में करोड़पति बनने में मदद कर सकती है।

अपने वित्त पर विचार करें – अपनी मासिक आय और मासिक व्यय पर एक नजर डालें। जांचें कि क्या आप अपनी आय से अधिक तो खर्च नहीं कर रहे हैं। यदि आपने ऋण लिया है या क्रेडिट कार्ड का उपयोग करते हैं, तो सबसे पहले उनका भुगतान करने पर ध्यान दें।

अपने खर्चों की योजना बनाएं – अवांछित खर्चों में कटौती करें और अपनी बचत बढ़ाएं। आप अधिक राशि बचाकर उसका उपयोग विभिन्न प्रकार के निवेश विकल्पों में निवेश के लिए कर सकते हैं। आप कितनी भी राशि का निवेश कर सकते हैं। यह जरूरी नहीं है कि आप अधिक मात्रा में ही निवेश करें। आप कम मात्रा में भी निवेश करना शुरू कर सकते हैं। आप निवेश और बचत के माध्यम से पूंजी बना सकते हैं।

प्रमाणित वित्तीय सलाहकार चुनें – कभी-कभी लोग पेशेवरों से वित्तीय सलाह लेने से हिचकते हैं और जब निवेश की बात आती है, तो हम अति आत्मविश्वास में होते हैं। हम सोचते हैं कि कोई भी हमारी वित्तीय स्थिति को हमसे बेहतर नहीं जानता है, पर यह सच नहीं है। वित्तीय सलाहकार पेशेवर रूप से योग्य होते हैं और वे हमारे निवेश और वित्त का प्रबंधन कर सकते हैं। उन्हें वित्त के मामले में गहराई से ज्ञान होता है। वित्तीय सलाहकार से सेवाएं लेने के कई लाभ होते हैं, जिनमें से कुछ हैं –

  • वे आपका समय बचाते हैं – आमतौर पर आप सुबह से शाम तक अपने काम में व्यस्त रहते हैं। जब आप शाम को काम करके घर आते हैं, तो थोड़ा खाली समय मिलता है, जिसे आप परिवार के साथ बिताते हैं। निवेश योजना बनाने के लिए समय चाहिए होता है। निवेश करने से पहले आपको जानकारी हासिल करनी चाहिए। पेशेवर सलाहकार की मदद लेने से समय की बचत होती है और आप सही निवेश निर्णय ले पाते हैं।
  • योजना बनाने में करते हैं मदद – वित्त के ऐसे कई पहलू होते हैं, जिन्हें आप अकेले ट्रैक नहीं कर सकते। इसमें आपकी सेवानिवृत्ति योजना, उम्र के आधार पर निवेश पोर्टफोलियो, परिवार के लिए वित्तीय सुरक्षा और बहुत कुछ शामिल होता है। वित्तीय सलाहकार इन सभी स्थितियों की आसानी से योजना बनाने में मदद कर सकता है।
  • वित्तीय रूप से होते हैं सतर्क – वित्तीय सलाहकारों को व्यापार और बाजार में होने वाली घटनाओं के बारे में अच्छी तरह से जानकारी होती है। सलाहकारों को शेयर बाजार में होने वाले उतार-चढ़ाव, ऋण पर ब्याज, निवेश उत्पादों पर रिटर्न, मुद्रास्फीति की दर, कानून और नियम आदि के बारे में जानकारी होती है। इसका मतलब है कि वे हमें स्वयं की तुलना में अच्छी तरह से जानकारी दे सकते हैं और निवेश, बचत तथा लाभ कमाने में मदद कर सकते हैं।
  • निवेश के अलावा भी बहुत कुछ – निवेश योजना के अलावा वित्तीय सलाहकार कर योजना की सलाह, खर्च की रणनीति, दीर्घकालिक योजना आदि पर आपको सलाह दे सकते हैं और आपकी मदद कर सकते हैं।

निवेश विकल्पों की सूची बनाएं – बाजार में निवेश के कई विकल्प उपलब्ध हैं। सभी के अलग-अलग वित्तीय लक्ष्य होते हैं। अपने लक्ष्यों के आधार पर आप एक, दो या इससे अधिक निवेश विकल्पों में निवेश करना चुन सकते हैं। अपने पोर्टफोलियो में विविधता लाने की कोशिश करें। पोर्टफोलियो की विविधता जोखिम को कम करती है और लाभ को संतुलित। निवेश विकल्पों को सूचीबद्ध करें और अपने वित्तीय सलाहकार से इनकी विशेषताएं, जोखिम और रिटर्न की के बारे में जानकारी लें।

लक्ष्य आधारित योजना बनाएं – आपको अपने लक्ष्यों को पूरा करने के लिए एक योजना चुननी चाहिए। निवेश का मतलब अतिरिक्त आय प्राप्त करने के लिए अपनी आय का एक हिस्सा निवेश करना। आप व्यवस्थित निवेश योजना (सिप) या एकमुश्त राशि के माध्यम से निवेश कर सकते हैं। जब तक की आप अपना लक्ष्य हासिल न कर लें सिप आपको नियमित रूप से आवधिक योगदान करने की सुविधा देता है।

अनुशासित निवेशक बनें – एक लक्ष्य निर्धारित करें और इस लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए एक रणनीति बनाएं। रणनीति बनाना मुख्य चुनौती होती है। रणनीति बनाकर उस पर चलते रहें। कोशिश करें कि  बाजार के उतार-चढ़ाव, पारिवारिक जरूरतों, करियर, आर्थिक बदलावों आदि के कारण रणनीति में बदलाव करने की जरूरत न पड़े। हालांकि विपरीत आर्थिक स्थिति में आप परिवर्तन कर सकते हैं। अनुशासित निवेशक बनने के लिए आपको निम्न बातों का ध्यान रखना चाहिए –

  • जल्दी निवेश करना शुरू करें – पैसे कमाने या बनाने वाले लोग हर महीने या सालाना नियमित रूप से निवेश करते हैं। वे सिर्फ किसी विशेष स्थिति में निवेश नहीं करते। वे बार-बार और जल्दी-जल्दी निवेश करते हैं, जिससे उनकी संपत्ति बढ़ती है।
  • बाजार की चक्रीय प्रकृति को समझें – जब आप शेयर बाजार में अधिक पैसा निवेश करते हैं, तो बाजार में होने वाली गिरावट आपको निराश कर सकती है। हालांकि, सफल निवेशक इसे समझते हैं। बाजार की एक चक्रीय प्रकृति होती है और बाजार में उतार-चढ़ाव होता रहता है।
  • पोर्टफोलियो में विविधता लायें – पोर्टफोलियो में विविधता लाने का मतलब है विभिन्न प्रकार की परिसंपत्तियों और निधियों में निवेश करना। विविधता जोखिम को कम करती है और बाजार में होने वाले उतार-चढ़ाव के दौरान रिटर्न को संतुलित।

आप ऊपर बताए गए बिंदुओं के अनुसार बदलाव करके 10 वर्षों में एक अच्छी पूंजी बना सकते हैं और करोड़पति बन सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here