पूरे परिवार के लिए हेल्थ इंश्योरेंस प्लान

0
403
Get Health Insurance for Family

पूरे परिवार के लिए हेल्थ इंश्योरेंस प्लान

बढ़ती आधुनिकता और जागरुकता के साथ ही लोग अपने स्वास्थ्य पर अधिक ध्यान देने लगे हैं। अब लोग बीमारी का इंतजार नहीं करते बल्कि पहले से ही सुरक्षा उपाए अपनाते हैं, जिससे बीमारियां न हो पायें। इसके साथ ही भविष्य में और एक उम्र के बाद होने वाली बीमारियों के लिए हेल्थ इंश्योरेंस (स्वास्थ्य बीमा) का सहारा लेते हैं। इसमें वो कोशिश करते हैं कि पूरे परिवार को कवर किया जा सके अत: आजकल फैमिली हेल्थ इंश्योरेंस का चलन बढ़ रहा है। यहां हम आपको फैमिली हेल्थ इंश्योरेंस के कुछ प्लान्स के बारे में बताने जा रहे हैं – 

फैमिली हेल्थ इंश्योरेंस में मिलने वाले लाभ

परिवार के सदस्यों के लिए व्यापक कवर – आप एक ही स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी के तहत अपने परिवार के सभी सदस्यों का बीमा करा सकते हैं। कुछ बीमा कंपनियां अतिरिक्त प्रीमियम के बदले माता-पिता और ससुराल के सदस्यों को भी इसमें सम्मिलित कर लेते हैं। इससे परिवार के सभी सदस्यों को चिकित्सकीय लाभ मिलता है।

साल में 5 लाख तक का कवर – फैमिली फ्लोटर स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत बीमित व्यक्ति को एक वर्ष में 5 लाख रुपये तक का कवर लाभ मिल सकता है।

कंपनियां करती हैं पुरस्कृत – इन बीमा पॉलिसी में किसी वर्ष कोई क्लेम नहीं करने पर अगले वर्ष आमतौर पर बोनस नहीं दिया जाता, लेकिन कुछ निश्चित राशि को अगले वर्ष की राशि में जोड़ा जाता है। साथ ही बीमा कंपनी पॉलिसीधारक को वर्ष भर स्वस्थ रहने के लिए पुरस्कृत करती हैं।

मिलती है कैशलेस सुविधा – फैमिली फ्लोटर स्वास्थ्य बीमा योजना पॉलिसीधारक को कैशलेस क्लेम सुविधा भी प्रदान करती है, जिसका लाभ अस्पतालों में उपचार के दौरान उठाया जा सकता है। 

पॉलिसी का समय – फैमिली फ्लोटर हेल्थ इंश्योरेंस प्लान पॉलिसी के समय का विकल्प प्रदान करती हैं। आप 1, 2 या 3 साल के लिए पॉलिसी का विकल्प चुन सकते हैं।

बाजार में उपलब्ध विभिन्न फैमिली हेल्थ प्लान

हैप्पी फैमिली फ्लोटर प्लान – इसे ओरिएंटल इंश्योरेंस कंपनी द्वारा लाया गया है। इसमें कुल इलाज खर्चे का 90 प्रतिशत कंपनी तथा 10 प्रतिशत मरीज द्वारा दिए जाने का प्रावधान है। इस योजना के तहत एलोपैथिक, आयुर्वेदिक, होम्योपैथिक इलाज को कवर किया गया है।

फैमिलीऑप्टिमा प्लान – यह प्लान स्टार हेल्थ और एलाइड इंश्योरेंस कंपनी लेकर आई है। पहले से मौजूद बीमारी के लिए यह योजना चार साल बाद कवर देना शुरु करती है। इसमें आजीवन रिन्यू करने का विकल्प मिलता है।

स्मार्ट हेल्थ प्लान – स्मार्ट हेल्थ प्लान भारती एक्सा जनरल इंश्योरेंस कंपनी का है। इस योजना में 100 प्रतिशत कवर दिया जाता है। यह प्लान आजीवन रिन्यू करने की सुविधा प्रदान करता है।

कम्पैनियन फैमिली फ्लोटर प्लान – यह प्लान मैक्स बूपा इंश्योरेंस कंपनी ने लॉन्च किया है। इसमें नो क्लेम बोनस और निशुल्क स्वास्थ्य जांच जैसे लाभ मिलते हैं। यह प्लान भी आजीवन रिन्यू की सुविधा देता है।

आई हेल्थ – आई हेल्थ नामक योजना आईसीआईसीआई लोम्बार्ड जनरल इंश्योरेंस कंपनी की है। इसमें ग्राहक को 100 प्रतिशत कवर दिया जाता है। यह योजना भी आजीवन रिन्यू का विकल्प प्रदान करती है।

ऑप्टिमा रिस्टोर – अपोलो म्युनिक स्वास्थ्य बीमा कंपनी की यह योजना भी 100 प्रतिशत कवर प्रदान करती है। इसमें मौजूदा बीमारी पर कवर 3 साल के बाद मिलना शुरु हो जाता है। अन्य स्कीमों में आमतौर पर यह 4 साल बाद मिलता है। इसके साथ ही बाजार में कई तरह के प्लान्स मौजूद हैं, जिन्हें ग्राहक अपनी आवश्यकता और सुविधा के अनुसार ले सकते हैं।

क्या कवर किया जाता है फैमिली हेल्थ इंश्योरेंस प्लान में

हॉस्पिटल के सभी खर्चे – इस तरह के प्लान में अस्पताल के सभी खर्चे शामिल होते हैं। साथ ही बीमित व्यक्ति को अस्पताल के बिलों का भुगतान करने के लिए कैशलेस सुविधा भी प्रदान की जाती है। इसमें परिवार के सभी सदस्य शामिल होते हैं।

हॉस्पिटल में भर्ती होने के पहले के सभी खर्चे – अस्पताल में भर्ती होने से पहले किए गए सभी मेडिकल खर्चे और अन्य चिकित्सा देखभाल के खर्चे को भी कवर किया जाता है।

एम्बुलेंस खर्च – अधिकतर फ्लोटर स्वास्थ्य बीमा कवर प्रदान करने वाली कंपनियां आपातकालीन एम्बुलेंस शुल्क को भी बीमा कवर देती हैं।

हॉस्पिटल का दैनिक खर्च – हर अस्पताल में छोटे-मोटे दैनिक खर्चे तो होते ही रहते हैं। बीमा कंपनियां बीमित व्यक्ति को दैनिक आधार पर नगद खर्च के लिए देती हैं, जिससे रोगी की देखभाल की जा सके एवं आवश्यक दवाइयों और बुनियादी आवश्यक्ताओं की पूर्ति की जा सके।

रिस्टोर सुविधा – कई बीमा कंपनियां फैमिली फ्लोटर स्वास्थ्य बीमा योजना के लिए रिस्टोर सुविधा भी प्रदान करती हैं। इसका उपयोग मुख्य कवर समाप्त होने की स्थिति में मूल पॉलिसी कवर को बहाल करने के लिए किया जा सकता है।

डेकेयर इलाज – छोटी सर्जरी जैसे मोतियाबिंद सर्जरी इसमें 24 घंटे से अधिक समय तक अस्पताल में भर्ती रहने की आवश्यकता नहीं होती है। इस तरह के इलाज को डेकेयर इलाज कहा जाता है। इस तरह की सर्जरी में मरीज को केवल कुछ घंटों के लिए भर्ती करने की आवश्यकता होती है। अत: कुछ बीमा कंपनियां डेकेयर कवर भी प्रदान करती हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here