आरोग्य संजीवनी योजना क्या है?

0
901
what is arogya sanjeevani policy

आरोग्य संजीवनी योजना क्या है?

बीमा कंपनियां और उनकी ऑनलाइन पॉलिसियों की संख्या बढ़ने के कारण लोग अक्सर सही-गलत नीति और अपने लिए सबसे अच्छी नीति को लेकर भ्रमित रहते हैं। ग्राहकों को पेश की जाने वाली हर योजनाओं की अपनी अलग विशेषताएं होती हैं और इसी कारण ग्राहक अपने लिए सर्वश्रेष्ठ योजना का चयन करने को लेकर दुविधा में रहते हैं। इसलिए इस तरह की समस्या के समाधान के लिए भारतीय बीमा विनियामक और विकास प्राधिकरण (इरडा) जनवरी 2020 में एक मानक स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी लेकर आया है। इस योजना को आरोग्य संजीवनी नाम दिया गया है। यह अपनी तरह की पहली योजना है। इसलिए इस लेख के माध्यम से इसी से संबंधित जानकारी दी जा रही है।

आरोग्य संजीवनी योजना

इरडा ने घोषणा की है कि इस मानक योजना का नाम सभी कंपनियों के लिए आरोग्य संजीवनी योजना होगा। इससे ग्राहकों को बेहतर स्पष्टता मिलेगी और वे भ्रम की स्थिति से बच सकेंगे। किसी भी दस्तावेज में इस योजना के लिए किसी भी अन्य नाम का उपयोग नहीं किया जा सकता है। प्रत्येक बीमा कंपनी (स्टैंडअलोन और जनरल) को अरोग्य संजीवनी योजना की पेशकश करनी होगी। इस योजना में लगभग 22 बीमारियों को कवर किया जायेगा तथा प्रतीक्षा अवधि उपचार और बीमारियों के आधार पर भिन्न होगी। यह 24 से 48 महीने तक हो सकती है। कवरेज के आधार पर इरडा के दिशानिर्देशों के तहत पॉलिसी की कीमत बीमा कंपनियों द्वारा निर्धारित की जायेगी। स्वास्थ्य बीमा पॉलिसियों की उपलब्धता आसानी से सुनिश्चित करने के उद्देश्य इस योजना को पेश किया गया है, इसलिए इसके किफायती होने की उम्मीद है। पॉलिसी का लाभ लेने के लिए न्यूनतम आयु 18 वर्ष है और इसे जीवन भर नवीनीकृत किया जा सकता है। पॉलिसी की अवधि एक वर्ष है।

आरोग्य संजीवनी योजना में मिलने वाला कवर

आरोग्य संजीवनी योजना के तहत निम्न कवर देना अनिवार्य है –

  • अस्पताल में भर्ती होने का खर्च।
  • बीमारियों या चोट के कारण आवश्यक दंत चिकित्सा और प्लास्टिक सर्जरी।
  • मोतियाबिंद का इलाज (एक सीमा तक)।
  • एम्बुलेंस और अस्पताल में भर्ती होने पर अधिकतम 2,000 रुपये का डेकेयर खर्च।
  • अस्पताल में भर्ती होने से पहले हुआ खर्च (अस्पताल में भर्ती होने के 30 दिन पहले)
  • अस्पताल से डिस्चार्ज होने के बाद का खर्च (डिस्चार्ज की तारीख के 60 दिन बाद)
  • आयुष उपचार पर खर्च (आयुर्वेद, योग और प्राकृतिक चिकित्सा, यूनानी, सिद्ध और होम्योपैथी आदि के लिए)

आरोग्य संजीवनी योजना का उद्देश्य किसी भी उम्र के ग्राहकों की बुनियादी स्वास्थ्य आवश्यकताओं को कवर करना है। भारत में पेश की जा रहीं अधिकांश स्वास्थ्य बीमा पॉलिसियों की आयु सीमा 60 वर्ष है। कुछ मामलों में यह 80 साल तक हो सकती है। वहीं अरोग्य संजीवनी योजना में कोई आयु सीमा नहीं है और आप अपने पूरे जीवन के दौरान लाभ के लिए दावा कर सकते हैं। इसके लिए बस आपको सालाना नवीनीकरण कराना होगा।

यदि आप एक वर्ष के भीतर कोई दावा नहीं करते हैं, तो कंपनी बीमित राशि पर 5% वृद्धि की पेशकश करती है। यह वृद्धि प्रत्येक वर्ष की जायेगी। इसके साथ ही अगर आपको किसी विशेष वर्ष के दौरान अपनी नीति का लाभ नहीं मिलता है, तो इसके एक भाग को अगले वर्ष में जोड़ दिया जाता है। अधिकांश स्वास्थ्य बीमा योजनाओं द्वारा संचयी बोनस की पेशकश की जाती है। लेकिन इस योजना में बीमित राशि पर विशेष बोनस की पेशकश की जा रही है। हालांकि इसके लिए भी कुछ शर्तें हैं। आरोग्य संजीवनी योजना 1 अप्रैल, 2020 से लागू की जाएगी।

यह योजना कितनी फायदेमंद है, इसे समझने के लिए आइए एक सामान्य स्वास्थ्य बीमा योजना की कमियों पर एक नजर डालते हैं –

प्रतीक्षा अवधि – प्रतीक्षा अवधि वह अवधि होती है, जिसके बाद बीमाधारक को स्वास्थ्य बीमा योजना का लाभ मिलना शुरू होता है। नवजात शिशुओं, पहले से मौजूद बीमारियों आदि के लिए प्रतीक्षा अवधि बहुत होती है। हम सभी अस्पताल के शुल्कों के बोझ को कम करने के लिए स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी लेते हैं और कोई भी नहीं चाहता कि उसे कोई नई बीमारी हो। हम पहले से मौजूद बीमारियों के खर्चों के बोझ को ही कम करना चाहते हैं। सामान्य स्वास्थ्य बीमा योजनाओं की प्रतीक्षा अवधि अधिक होने पर हम पॉलिसी लेने के तुरंत बाद पहले से मौजूद बीमारियों को कवर करने का दावा नहीं कर सकते हैं।

आयु सीमा – जैसे-जैसे हमारी उम्र बढ़ती जाती है, हमें बीमारियां घेरने लगती हैं और अस्पताल के दौरों की आवृत्ति बढ़ती जाती है। अधिक उम्र जीवन का आखिरी पढ़ाव होती है और इस उम्र में लोगों को चिकित्सा सहायता की सबसे अधिक आवश्यकता होती है। लेकिन अधिकांश स्वास्थ्य बीमा पॉलिसियों में एक निश्चित आयु सीमा होती है। अधिकांश स्वास्थ्य बीमा पॉलिसियों में अधिकतम आयु सीमा 60 वर्ष होती है।

  • प्रत्येक स्वास्थ्य बीमा योजना अलग होती है। सस्ती स्वास्थ्य बीमा योजनाएं कुछ ही बीमारियों को कवर करती हैं। ज्यादातर मामलों में बुनियादी जरूरतों को भी कवर नहीं किया जाता है।
  • स्वास्थ्य बीमा पॉलिसियां महंगी हैं। यदि आप अच्छे कवरेज वाली पॉलिसी का लाभ लेना चाहते हैं, तो आपको उच्च प्रीमियम का भुगतान करना होगा। इसके बाद भी यदि आपको ऐसी कोई बीमारी हो जाती है, जो पॉलिसी के तहत कवर नहीं की जाती, तो आपके दावे का निपटान नहीं किया जाएगा।

आरोग्य संजीवनी योजना इरडा द्वारा अच्छी तरह से तैयार की गई स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी है, जो प्रत्येक व्यक्ति को एक मानक स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी उपलब्ध कराने के लिए लाई जा रही है। इस योजना में ऊपर बताई गई सभी कमियों का समाधार पेश किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here